गुरुवार, 16 जून 2011

मेरे प्यारे पापा जी


शिशुगीत :सुनैना अवस्थी 
चित्र में आदित्य अपने पापा के साथ
 मेरे प्यारे पापा जी ,
भोले-भाले पापा जी .
रोज सबेरे जाते जी 
देर शाम को आते जी .
मीठी चिज्जी लाते जी 
हम सब मिलकर खाते जी .
अच्छी बात बताते जी  
अच्छी राह दिखाते जी .

7 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस उत्कृष्ट प्रवि्ष्टी की चर्चा कल शुक्रवार के चर्चा मंच पर भी है!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बच्चे जिन गीतों को सरलता तथा सहजता
    से गा सकें और याद कर सकें, अच्छे गीत
    माने जाते हैं, यह गीत अपने उद्देश्य में
    सफल रहा है,
    धन्यवाद.
    आनन्द विश्वास.

    उत्तर देंहटाएं